राजस्थान शिक्षा विभाग समाचार 2023

एप, कम्प्यूटर व शिक्षा तकनीक

शिक्षा में तकनीकी | स्कूल शिक्षा विभाग में विद्यालयों के अवलोकन हेतु शाला सम्बलन एप

20221212 163134 | Shalasaral

शिक्षा में तकनीकी का प्रयोग निरन्तर बढ़ रहाहै। सकुला अवलोकन हेतु कुछ वर्ष पूर्व अधिकारी एक निर्धारित प्रपत्र अपने साथ मे रखते थे। वक्त निरीक्षण इस प्रपत्र में स्कूल से सम्बंधित समस्त सूचनाएं वे अपने हाथ से अथवा सहायक से संधारित करवाते थे। अब स्कूल शिक्षा विभाग राजस्थान में विद्यालयों के अवलोकन हेतु अधिकारियों द्वाराशाला सम्बलन एप को डाउनलोड करके उसके माध्यम से अवलोकन किया जाता है। आज हम शाला सम्बलन एप की पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे।

शाला सम्बलन एप्प द्वारा राजस्थान में राजकीय स्कूलों का अवलोकन/ निरक्षण कार्य किया जाता है। इस एप की अपनी विशेषता है। इसके माध्यम से अवलोकन होने पर डेटा सेंट्रल एजेंसी में जमा होता है तथा इस बात की जानकारी विभाग को चुटकी में हो जाती है कि किस अधिकारी ने किस माह में व कौनसे विद्यालयों का निरीक्षण किया हैं। किस अधिकारी ने अवलोकन मानदण्ड पूर्ण किये है? आइये, इस नवाचारी शाला सम्बलन एप की पूर्ण जानकारी प्राप्त करते है।

  • PEEO से लेकर सयुंक्त निदेशक स्तर के सभी जिला एवं ब्लॉक स्तर के अधिकारियों को प्रत्येक माह में कितने विद्यालयों का अवलोकन करना है, इसके लक्ष्य विभाग ने तय कर रखें है और उसी की पालना में विद्यालय अवलोकन करने है।
  • अवलोकन कार्य के पूरे डेटा ऑनलाइन उसी दिन करने है, जिस दिन आपने अवलोकन किया है।
  • ऑनलाइन अपडेशन शाला सम्बलन ऐप के द्वारा अवलोकन दिवस को ही सम्पादित होगा, जिसे निम्न link से 👉https://play.google.com/store/apps/details?id=in.nic.rajshaladarpan.shalasamblanapp डाउनलोड किया जा सकता है या गूगल प्ले स्टोर पर जाकर भी डाउनलोड कर सकते है।
  • एप पर login के दौरान आपको शाला दर्पण पर दर्ज मोबाइल नम्बर डालकर प्राप्त OTP को submit करके आगे बढ़ना है, आपकी detail प्रदर्शित होगी।
  • जिस विद्यालय का उस दिवस को अवलोकन करना है, उसे जिला व ब्लॉक चयन द्वारा या nic id द्वारा select कर सकते है।
  • अवलोकन में 11 टेब है जिनमे प्रथम टेब भरी मिलेगी शेष 10 टेब अवलोकनकर्ता द्वारा भरी जानी है।
  • अन्तिम टेब में एप के अंदर ही संस्था प्रधान व अवलोकनकर्ता के हस्ताक्षर भी होंगे।
  • अन्त में save का बटन दबाने पर डेटा save हो जाएंगे।
  • इसके बाद data upload on server की टेब पर क्लिक करना है, फिर एक OTP आएगा, उसको submit करने पर अवलोकन server पर upload हो जाएगा और आपको व उच्च स्तर के अधिकारियों को भी दिखाई देगा।
  • आपकी सुविधा के लिए शाला सम्बलन एप में वांछित सूचनाओं की पूर्व जानकारी हेतु सम्बलन प्रपत्र तैयार किया गया है, जिसको follow करके आप ऐप पर डेटा सहजता से feed कर पाएंगे।

शाला सम्बलन एप के माध्यम से विद्यालय संबलन किये जाने के उदेश्य

  1. विद्यालय के कमजोर एवं मजबूत पक्षों को जानकर मौके पर ही विद्यालय स्टॉफ को संबलन प्रदान करना
  2. विद्यालय स्टॉफ, शिक्षा एवं विद्यालय संबंधी कार्यों की गुणवत्ता को जाँचना ।
  3. शिक्षण प्रक्रिया एवं शैक्षणिक गतिविधियों को समझना एवं संबलन प्रदान करना ।
  4. विद्यालय प्रशासन एवं विद्यालय प्रबन्धन समिति के कार्यों की गुणवत्ता को समझना।
  5. विद्यालय की भौतिक एवं शैक्षिक स्थिति की जानकारी प्राप्त करना।

शाला संबलन हेतु विकसित किये गये मोबाईल एप पर इन्द्राज की जाने वाली सूचनाऐं हेतु निर्देश

  1. संबलनकर्ता अधिकारी विद्यालय अवलोकन से पूर्व प्ले स्टोर के माध्यम से मोबाईल एप डाउनलोड कर अपने मोबाईल में उसे इनस्टॉल करेंगें। मोबाईल एप खोलने के बाद संबंधलनकर्ता अधिकारी को अपना मोबाईल नम्बर इन्द्राज करना है, जोकि ओटीपी के माध्यम से प्रमाणित किया जायेगा।
  2. भाग-1 में विद्यालय से संबंधित सामान्य जानकारी जैसे- नाम, एनआईसी कोड, जिला, ब्लॉक इत्यादि के साथ संबलनकर्ता अधिकारी का नाम, पद, पदस्थापन स्थान, मोबाईल नम्बर इत्यादि भरी जानी है।
  3. भाग-2 में बिन्दु संख्या 21 से 2.3 तक संबलन दिवस पर उपस्थित / अनुपस्थित शिक्षकों की स्थिति की सूचना भरी जानी है।
  4. भाग-3 में बिन्दु संख्या 3.1 से 3.8 तक “आओ घर में सीखें” कार्यक्रम के क्रियान्वयन की स्थिति की सूचना भरी जानी है। यह भाग कोविड-19 महामारी के कारण विद्यालय बन्द होने की स्थिति में ही प्रदर्शित होगा।
  5. भाग-4 के बिन्दु संख्या 4.1 में कक्षा 1-5, 6-8, 9-10, 11-12 में नामांकित विद्यार्थियों की उपस्थिति दर्ज की जानी है। इस हेतु नामांकन मोबाईल एप में स्वतः प्रदर्शित होगा। बिन्दु संख्या 4.2 में लिंगवार कुल उपस्थिति दर्ज की जानी है। बिन्दु संख्या 4.3 में किसी भी एक कक्षा की उपस्थिति का उपस्थिति रजिस्टर के अनुसार भौतिक सत्यापन कर सूचना इन्द्राज करनी है।
  6. भाग-5 के कुल चार खण्ड हैं। Part A के बिन्दु संख्या 5A.1 से 5A.8 तक उपचारात्मक शिक्षण संबंधित सूचनाऐं भरी जानी है। Part B के बिन्दु संख्या 5B.1 से 5B.13 तक कक्षा कक्षीय शिक्षण (ग्रेड 1-8) से संबंधित सूचनाऐं भरी जानी है Part C के बिन्दु संख्या 5C.1 से 5C.9 तक कक्षा 9-12 के विद्यार्थियों के लिए किये गये अकादमिक कार्यों से संबंधित सूचनाऐं भरी जानी है। Part D के बिन्दु संख्या 5D.1 से 5D.5 तक राज्य में संचालित बोर्ड परीक्षाओं से संबंधित कार्यों की सूचनाऐं भरी जानी है।
  7. भाग- 6, विद्यार्थियों के सीखने के स्तर की जाँच हेतु बनाया गया है। इस भाग का नाम “स्पॉट चैक” दिया गया है। इस भाग में संबलनकर्ता द्वारा एक कक्षा के किसी भी दो विषयों में दो विद्यार्थियों के शैक्षिक स्तर की जाँच कर सूचनाऐं भरी जानी है। शैक्षिक स्तर की जाँच हेतु विद्यार्थियों की NIC ID कक्षा अध्यापक से जानकारी कर पूर्ण की जानी है। शैक्षिक स्तर की जाँच के दौरान मोबाईल एप में कक्षा एवं विषय का चयन करते ही बहुविकल्पीय / हाँ-नहीं उत्तर वाले प्रश्न प्रदर्शित होंगे। इन प्रश्नों को विद्यार्थी से पूछ कर उनके द्वारा दिये गये उत्तर को भरा जाना हैं।
  8. भाग-7 के बिन्दु संख्या 7.1 से 7.8 में विद्यालयों में उपलब्ध भौतिक संसाधनों की स्थिति की जाँच कर सूचनाऐं भरी जानी है।
  9. भाग -8 के बिन्दु संख्या 8.1 से 8.9 में विद्यालयों में उपलब्ध सुविधाओं की स्थिति की जाँच कर सूचनाऐं भरी जानी है।
  • 10. भाग – 9 में संबलन हेतु चयनित किये गये विद्यालय के प्रकार अनुसार सूचनाऐं इन्द्राज की जानी है। बिन्दु संख्या 91 से 97 तक यदि विद्यालय में आईसीटी लैब संचालित है तो उससे संबंधित सूचनाऐं भरी जानी है। इसी प्रकार बिन्दु 9.9 से 9.11 में मॉडल स्कूल, बिन्दु संख्या ७. 12 से 9.14 में केजीबीवी, बिन्दु संख्या 9.15 से 9.17 में व्यावसायिक शिक्षा से संबंधित सूचना भरी जानी है।
  • भाग – 10 के कुल तीन खण्ड हैं। भाग 10A में शिक्षकों को किस क्षेत्र में समर्थन की आवश्यकता है, उसकी सूचना इन्द्राज की जानी है। भाग 10B के बिन्दु संख्या 10.3a से 10.5c में विद्यालय के सुधार हेतु आवश्यक तीन प्राथमिकताओं का चयन कर सूचना भरी जानी है। भाग 100 के बिन्दु संख्या 10.6a से 10.6g में संबलनकर्ता अधिकारी द्वारा विद्यालय को फीडबैक प्रदान किया जाना है। इस हेतु विद्यालय के विभिन्न आयामों में किये गये कार्यों पर सुधार की आवश्यकता / सन्तोषप्रद / अच्छा / उत्कृष्ट का कोड दर्ज करना है।
  • भाग – 11 में संबलनकर्ता अधिकारी द्वारा किया गये विद्यालय अवलोकन के सत्यापन / प्रमाणीकरण संबंधित सूचनाऐं भरी जानी है।
  • प्रत्येक भाग में सूचनाऐं संख्यात्मक, ड्राप डाउन से चयन, चेकबाक्स से चयन कैलेण्डर द्वारा, संबंधित कोड के माध्यम से भरी जानी है।
  • यह मोबाईल एप ऑनलाईन एवं ऑफलाईन दोनो माध्यमों में क्रियाशील है।
  • एप में सूचनाओं की प्रविष्टि के उपरान्त सर्वर पर डाटा अपलोड किया जाना है।

Related posts
Daily KnowledgeEducational NewsGeneral KnowledgeRaj Studentsएप, कम्प्यूटर व शिक्षा तकनीक

Safer Internet Day 2023 | सुरक्षित इंटरनेट डे का आयोजन 07 फरवरी 2023 को आएगा

Daily KnowledgeRaj Studentsएप, कम्प्यूटर व शिक्षा तकनीक

आनॅलाइन गेमिंग | ऑनलाइन गेमिंग में सुरक्षा को सदैव ध्यान में रखें

Daily KnowledgeRaj Studentsएप, कम्प्यूटर व शिक्षा तकनीक

साइबर ग्रूमिंग | Cyber Grooming क्या हैं और अपने बच्चों को इससे कैसे बचाये?

Daily KnowledgeRaj Studentsएप, कम्प्यूटर व शिक्षा तकनीक

साइबरबुलिंग | साइबर बुलिंग के बारे में पूरी जानकारी