राजस्थान शिक्षा विभाग समाचार 2023

Educational NewsRaj StudentsSchemes

गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार पात्र बालिकाओं के लिए 20 फरवरी 2023 तक ऑनलाइन आवेदन

scheme img | Shalasaral

गार्गी पुरस्कार: 20 फरवरी तक कर सकेंगी आवेदन

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर की 10 वीं, 12वीं, प्रवेशिका, वरिष्ठ उपाध्याय, व्यवसायिक तथा समकक्ष परीक्षाओं में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वाली बालिकाओं के लिए शिक्षा विभाग की बालिका प्रोत्साहन तथा गार्गी पुरस्कार की पहली व दूसरी किस्त दी जाएगी। बालिका शिक्षा फाउंडेशन की ओर से संचालित इस योजना के तहत पात्र बालिकाएं अब 20 फरवरी 2023 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकती हैं।

बालिका शिक्षा फाउंडेशन

इन दोनों पुरस्कार योजनाओं के तहत राज्यभर की 2 लाख 51 छात्राएं आवेदन कर सकेंगी। हालांकि दोनों पुरस्कारों के लिए 10वीं 12वीं में 75% से अधिक अंक वाली बालिकाएं पात्र रहती है परंतु कोरोना के कारण साल 2021 में विशेष फार्मला के तहत दिए गए परिणाम के मद्देनजर उस वर्ष की पात्रता के लिए 90 फीसदी अंक निर्धारित किए गए हैं।

कौन सी बालिकाओं द्वारा किया जा रहा हैगार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार हेतु आवेदन।

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान अजमेर की ओर से आयोजित कक्षा 10 प्रवेशिका, मॉडल स्कूल एवं कक्षा-10 (व्यावसायिक शिक्षा) परीक्षा- 2022 में 75 प्रतिशत व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाएं जो कि वर्तमान सत्र 2022-23 में कक्षा 11 में राज्य में स्थित विद्यालयों में नियमित रूप से अध्ययनरत हैं।

अजमेर बोर्ड की ओर से आयोजित कक्षा-10 प्रवेशिका, स्वामी विवेकानन्द मॉडल स्कूल.एवं कक्षा 10 (व्यावसायिक शिक्षा) परीक्षा- 2021 में 90 प्रतिशत व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाएं जो कि वर्तमान सत्र 2022-23 में कक्षा 12 में राज्य में स्थित विद्यालयों में नियमित रूप से अध्ययनरत हैं।

12वीं, वरिष्ठ उपाध्याय एवं समकक्ष परीक्षा -2022 में 75 प्रतिशत व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं को बालिका प्रोत्साहन के लिए ऑनलाइन आवेदन भरवाए जा रहे हैं।

अजमेर |

बालिका शिक्षा फाउंडेशन ने गार्गी और बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के ऑनलाइन आवेदन की अाखिरी तारीख एक माह बढ़ा दी है। यह दूसरी बार है जब तारीख बढ़ाई गई है। नई तारीख के तहत अब वंचित छात्राएं 20 फरवरी तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगी।फाउंडेशन के उप सचिव तेजपाल मूंड के मुताबिक राज्य की 2.52 लाख छात्राअाें काे गार्गी और बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार दिया जाना है। इसके लिए पहले ऑनलाइन आवेदन की तारीख 20 जनवरी तय की गई थी। लेकिन तय तारीख तक केवल 50 फीसदी छात्राओं के ही अावेदन जमा हुए थे। एेसे में यह तारीख 20 फरवरी तक बढ़ा दी गई है। उन्होंने बताया कि पुरस्कार के लिए ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।पुरस्कार की राशि सीधे बालिका के जन आधार नंबर से जुड़े खुद या परिवार के महिला मुखिया के बैंक खाते में स्थानांतरण की जाएगी। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं परीक्षा- 2022 में 75% या इससे ज्यादा अंक हासिल करने वाली राज्य की 63,267 छात्राअाें को गार्गी की प्रथम किस्त तीन हजार रुपए दी जाएगी।

राजस्थान राज्य की 1.43 लाख बालिकाएं गार्गी पुरस्कार हेतु तथा 1.08 लाख बालिकाएं प्रोत्साहन पुरस्कार की पात्र है। इनमें से अभी तक रजिस्ट्रेशन सिर्फ 32% बालिकाओं ने ही करवाया है। गत 35 दिन में 80326 बालिकाओं ने करवाया रजिस्ट्रेशन करवाया है लेकिन अभी भी बड़ी सँख्या में बालिकाओं द्वारा रजिस्ट्रेशन नही करवाया गया है।

पात्र बालिकाओं को 31 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन करना है


बालिका शिक्षा फाउंडेशन की ओर से राज्य की 2.51 लाख बेटियों को गार्गी और बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार दिया जाएगा। पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पिछले माह से शाला दर्पण पोर्टल पर शुरू कर दी गई है। पात्र बालिकाओं को 31 दिसंबर 2022 तक ऑनलाइन आवेदन करना है। निर्धारित तिथि में अब केवल चार दिन का समय शेष बचा है। लेकिन अभी तक केवल 32 फीसदी छात्राओं ने ही ऑनलाइन आवेदन किया है। बालिका शिक्षा फाउंडेशन की ओर से राज्य की 143638 बालिकाओं को गार्गी और 108309 छात्राओं को बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए पात्र घोषित किया गया है।

बालिका प्रोत्साहन (कक्षा 12th के लिए)

यह योजना वर्ष् 2008-09 में प्रारम्भ की गई। योजनान्तर्गत माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर द्वारा आयोजित उच्च माध्यमिक कला, विज्ञान, वाणिज्य एवं वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा में 75% व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं को रु. 5000 एवं प्रमाण-पत्र देकर पुरस्कृत किया जाता है।

पुरस्कार हेतु राशि निदेशक, माध्यमिक शिक्षा राजस्थान, बीकानेर द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है। उक्त पुरस्कार भी जिला मुख्यालय एंव पंचायत समिति स्तर पर प्रतिवर्ष बसन्त पंचमी को समारोह आयोजित कर पुरस्कार वितरित किया जाता है।

गार्गी पुरस्कार (प्रथम किस्त वर्ष 2022-23)

योजना वर्ष 1998 से प्रारम्भ की गई है। योजना अन्तर्गत माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर द्वारा आयोजित माध्यमिक एवं प्रवेशिका परीक्षा में 75% व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं को कक्षा 11 व 12 में नियमित अध्ययनरत् रहने पर प्रतिवर्ष राशि रु. 3000 एवं प्रमाण-पत्र देकर पुरस्कृत किया जाता है |

पुरस्कार हेतु राशि निदेशक, माध्यमिक शिक्षा राजस्थान, बीकानेर द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है। पुरस्कार प्रत्येक जिला मुख्यालय एंव पंचायत समिति स्तर पर प्रतिवर्ष बसन्त पंचमी को समारोह आयोजित कर पुरस्कार वितरित किया जाता है।

स्वामी विवेकानन्द राजकीय मॉडल स्कूल की कक्षा 10वीं की परीक्षा में 8 से 10 सीजीपीए प्राप्त करने वाली बालिकाओं को भी पुरस्कार दिया जाता है।

गार्गी पुरस्कार (द्वितीय किस्त वर्ष 2022-23)

योजना वर्ष 1998 से प्रारम्भ की गई है। योजना अन्तर्गत माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर द्वारा आयोजित माध्यमिक एवं प्रवेशिका परीक्षा में 75% व इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं को कक्षा 11 व 12 में नियमित अध्ययनरत् रहने पर प्रतिवर्ष राशि रु. 3000 एवं प्रमाण-पत्र देकर पुरस्कृत किया जाता है |

पुरस्कार हेतु राशि निदेशक, माध्यमिक शिक्षा राजस्थान, बीकानेर द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है। पुरस्कार प्रत्येक जिला मुख्यालय एंव पंचायत समिति स्तर पर प्रतिवर्ष बसन्त पंचमी को समारोह आयोजित कर पुरस्कार वितरित किया जाता है।

स्वामी विवेकानन्द राजकीय मॉडल स्कूल की कक्षा 10वीं की परीक्षा में 8 से 10 सीजीपीए प्राप्त करने वाली बालिकाओं को भी पुरस्कार दिया जाता है।

गार्गी व प्रोत्साहन पुरस्कार हेतु शाला दर्पण से ऑनलाइन आवेदन अविलम्ब करें

दोनों अवार्ड प्राप्त करने के लिए बालिकाओं को निर्धारित तिथि 31 दिसंबर तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। बालिका प्रोत्साहन योजना में पात्र बालिकाओं में से अब तक केवल 47450 बालिकाओं ने आवेदन किया है। जबकि गार्गी अवॉर्ड में यह आंकड़ा और भी कम है। गार्गी की पात्र बालिकाओं में से अब तक केवल 32876 बालिकाओं ने आवेदन किया है। इस साल 2022 की 10वीं में 75 फीसदी या इससे अधिक अंक लाने वाली 63072 बालिकाओं को गार्गी की प्रथम किस्त और इसी साल 2022 की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 75% से अधिक अंक लाने वाली 108309 बालिकाओं को प्रोत्साहन पुरस्कार की राशि दी जाएगी। पिछले साल 2021 की 10वीं बोर्ड परीक्षा में 90 फीसदी या इससे अधिक अंक लाने वाली 80556 छात्रों को गार्गी की द्वितीय किस्त का भुगतान होगा।

गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार की सामान्य जानकारी

10वीं बोर्ड की बालिकाओं को गार्गी व 12वीं बोर्ड की बालिकाओं प्रोत्साहन पुरस्कार बालिका शिक्षा फाउंडेशन द्वारा बसंत पंचमी पर दिया जाता है । पुरस्कार
10वीं -12वीं बोर्ड परीक्षा में पात्र छात्राओं को हमेशा बसंत पंचमी पर गार्गी और बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। लेकिन कोरोना के कारण पिछले शिक्षा सत्र की छात्राओं को बसंत पंचमी पर पुरस्कार की राशि प्रदान नहीं की गई। इस बार भी करीब 68 फीसदी पात्र बालिकाओं ने ऑनलाइन आवेदन नहीं किया है। समय पर आवेदन नहीं होने के कारण पिछली बार भी फाउंडेशन को कई बार आवेदन की तिथि में बढ़ोतरी करनी पड़ी थी। जिस कारण समय पर पुरस्कार का वितरण नहीं हो पाया।

पुरस्कार की राशि बैंक खाते में होगी ट्रांसफर


पात्र बालिकाओं को पुरस्कार की राशि बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी। जिसके लिए ऑनलाइन आवेदन में एस आर नम्बर, जन आधार नंबर और जनाधार मेंबर आईडी नंबर जरूरी है। फाउंडेशन के अधिकारियों ने बताया कि बालिका का खाता नहीं होने पर माता के खाते में पुरस्कार की राशि ट्रांसफर की जा सकेगी।

गार्गी और बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पिछले महीने शुरू कर दी गई थी। पात्र बालिकाओं को पुरस्कार के लिए 31 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं होंगे। – तेजपाल मूड, उप सचिव, बालिका शिक्षा फाउंडेशन

बालिका शिक्षा फाउंडेशन, राजस्थान

बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बालिका शिक्षा फाउण्डेशन की स्थापना 30 मार्च 1995 में की गई। बालिका शिक्षा फाउण्डेशन सोसायटी एक्ट के तहत पंजीकृत संस्था है, जिसकी शाषी परिषद् के अध्यक्ष माननीय मुख्यमंत्री एवं निष्पादक परिषद् के सभापति मुख्य सचिव महोदय है।

फाउण्डेशन की स्थापना के समय राज्य सरकार के द्वारा कोरपस फण्ड के रूप में 1.00 करोड़ रुपये की राशि उपलब्ध करवाई गई। बालिका शिक्षा फाउण्डेशन में निजी शिक्षण संस्थाओं की मान्यता/क्रमोन्नति/स्थान परिर्वतन आदि के लिए आरक्षित कोष की राशि जमा करवाई जाती है। वर्तमान में कोरपस फण्ड एवं आरक्षित कोष की कुल राशि 204.00 करोड रूपये बालिका शिक्षा फाउण्डेशन के पी.डी खाते में जमा है। उक्त जमा राशि से प्रतिवर्ष लगभग 15 करोड़ रूपये ब्याज अर्जित होता है। उक्त अर्जित ब्याज से निम्नयोजनाओं का संचालन किया जाता है।

Related posts
Education Department LatestSchemesSchool Managementनिजी स्कूलों हेतु आदेशसमाचारों की दुनिया

RTE 2009 | प्री प्राईमरी कक्षाओं में निःशुल्क प्रवेश के संबंध में

Daily MessageRaj StudentsRKSMBK

RKSMBK | दीक्षा पोर्टल पर विद्यार्थियों हेतु विषय सामग्री

Educational NewsRaj StudentsSocial Media

NCC | महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय, चैनपुरा, जोधपुर

Raj StudentsSchemesSocial Mediaसमाचारों की दुनिया

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना बनी वरदान खोरापाड़ा की भूरी के लिये