राजस्थान शिक्षा विभाग समाचार 2023

Important OrdersPDF पीडीएफ कॉर्नरRaj Students

राजस्थान सरकार कैलेंडर 2023 | राजस्थान सरकार द्वारा जारी कैलेंडर

20230102 145558 | Shalasaral

राजस्थान सरकार द्वारा कैलेंडर 2023 के लिए जारी कर दिया है। यह राजकीय कार्यों के निष्पादन हेतु अत्यंत आवश्यक है। इसे राजकीय मुद्रणालय द्वारा मात्र 14/-₹ में उपलब्ध करवाया जाता है। इस बार वर्ष 2023 हेतु कैलेंडर की थीम -” ऊर्जा”- रखा गया है।

राजस्थान सरकार Government of Rajasthan जनवरी 2023 JANUARY

image editor output image1440330043 16726466556618180933402745032851 | Shalasaral

सोने सा दमकता राजस्थान

गगन का थाल मोतियों से भरा है, सूर्य उसका एक अनमोल रत्न है। सूर्य हमारे लिए आज भी उतने ही आकर्षण के केंद्र है, जितना वेद के ऋषियों के लिए, जिन्होंने कहा “सूर्य आत्मा जगतस्तस्थुषश्च” अरुणोदय की अद्भुत बेला का स्वागत करते हुए मरुधरा की रेत सुनहरी हो जाती है और प्रतिदिन सोने सा दमकता है राजस्थान ! राजस्थान, जहाँ सूर्य पूजा विरासत की अटूट परम्परा है सूर्य की हर किरण को अपने अंक में समेटता राजस्थान इस अक्षय ऊर्जा का भरपूर उपयोग कर रहा है।

फरवरी, 2023 FEBRUARY

image editor output image 365180267 16726468085689028926021461588343 | Shalasaral

विश्व की सभी सभ्यताओं और संस्कृति में सूर्य की महत्ता

विश्व की सभी सभ्यताओं और संस्कृति में आनंददाता सूर्य की असीम महत्ता को स्वीकार किया गया है। आरोग्यदाता सूर्य रश्मियों में इन्द्रधनुष के सात रंग होते हैं- नीला, आसमानी, हरा, पीला, नारंगी, बैंगनी और लाला जड़ चेतन जगत को सूर्य की महती आवश्यकता है। यह वायु, जल, भूमि की उत्पत्ति के कारक हैं, दिशाओं के जनक है।

मार्च 2023 MARCH

image editor output image 1982575002 16726468996547366026806653209274 | Shalasaral

राजस्थान में सूर्य रश्मियों के स्वागत की अक्षुण्ण परम्परा

कर्नल जेम्स टॉड ने राजस्थान के इतिहास में सूर्य प्रतिमाओं और सूर्य मंदिरों का उल्लेख किया है। यह आध्यात्मिक, दर्शनीय स्थल होने के साथ ही सूर्योदय और सूर्यास्त बिंदू भी है। जयपुर रियासत के राजा सूर्यवंशी थे। सवाई जयसिंह ने एक अद्भुत वेधशाला का निर्माण किया था, इसमें स्थित “धूप घड़ी” आज भी वैदिक पंडितों की अद्भुत गणना और वैज्ञानिक समझ का प्रमाण है।

अप्रेल, 2023 APRIL

image editor output image731175560 16726470206398113224352140308827 | Shalasaral

अक्षय ऊर्जा

अक्षय ऊर्जा या नवीकरणीय ऊर्जा में वे सारी ऊर्जा शामिल है जो प्रदूषणकारक नहीं है तथा जिनके स्रोत का क्षय नहीं होता। सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, जलविद्युत ऊर्जा, ज्वार-भाटा प्राप्त ऊर्जा, बायोमास (जैव इंधन) आदि नवीकरणीय ऊर्जा के कुछ उदाहरण हैं। कृषि, उद्योगों एवं घरेलू क्षेत्रों के विकास में सौर ऊर्जा का योगदान परिलक्षित होता है। विद्युत उपलब्धता, आत्मनिर्भरता और बिजली बिल में आर्थिक राहत इसका प्रत्यक्ष लाभ है।

मई, 2023 MAY

image editor output image 1358750833 16726471256178480009446106863748 | Shalasaral

अक्षय ऊर्जा का क्रमिक विकास

सोलर टॉर्च, सौर कुकर और सौर हीटर से शुरू हुआ अक्षय ऊर्जा का क्रमिक विकास सोलर रोड लाइट, घरेलू सौर संयंत्रों और सोलर कृषि पंपों से होता हुआ आज नवीकरणीय ऊर्जा से पर्यावरण संरक्षण की ओर बढ़ चला है। पम्प हाइड्रो स्टोरेज प्लांट, फ्लोटिंग सोलर प्लांट, ग्रीन हाइड्रोजन, ग्रीन अमोनिया एवं इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग में अक्षय ऊर्जा का कुशलतम उपयोग किया जा रहा है।

जून, 2023 JUNE

image editor output image 1533552764 16726471932625779294678540947296 | Shalasaral

सोलर पैनल

सूर्य से निकलने वाली रोशनी में ऊर्जा के कुछ कण होते है जिन्हें फोटॉन कहा जाता है। इन फोटॉन की एनर्जी से प्राप्त होने वाली ऊर्जा को ही सौर ऊर्जा कहा जाता है। सोलर पैनल की मदद से बिजली प्राप्त की जा सकती है। इसका उपयोग, रखरखाव सुरक्षित, आसान और सस्ता है, वातावरण प्रदूषित नहीं होता और पर्यावरण शुद्ध रखने में मदद मिलती है।

जुलाई, 2023 JULY

image editor output image799278956 16726472962125222793708206865218 | Shalasaral

सोलर रूफटॉप योजना

घर एवं संस्थान की छत पर सौर पैनल लगाकर उससे उत्पादित ऊर्जा का उपयोग विद्युत उपभोग हेतु किया जा सकता है। सौर रूफटॉप संयंत्र स्थापित करने को प्रोत्साहन देने हेतु वर्तमान में घरेलू श्रेणी उपभोक्ताओं को पहले 3 किलोवाट तक 40% सब्सिडी तथा उससे अधिक एवं 10 किलोवाट क्षमता तक 20% सब्सिडी दी जा रही है।

अगस्त, 2023 AUGUST

image editor output image917662758 16726474257106781900875389153217 | Shalasaral

अक्षय ऊर्जा से समृद्ध राजस्थान

प्रतिवर्ष 20 अगस्त को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गांधी के जन्मदिन पर अक्षयऊर्जा दिवस मनाया जाता है। राजस्थान में गैर परंपऊर्जा निगम की स्थापना की गई। यहाँ देश के 19और कुल ऊर्जा के उपयोग में अक्षय ऊर्जा की हिस्सदारा 14% हा दश का कुलअक्षय ऊर्जा क्षमता में 17% योगदान राजस्थान का है। वर्ष 2030 तक निर्धारितराष्ट्रीय अक्षय ऊर्जा लक्ष्यों की प्राप्ति में राजस्थान की भूमिका अग्रणी होगी।

सितम्बर, 2023 SEPTEMBER

image editor output image358272307 16726475549135212492118597776854 | Shalasaral

सोलर पार्क

सोलर पार्क में एक बड़े भू-भाग पर सुनियोजित रूप से सौर ऊर्जा को एक हीस्थान पर विकसित किया जाता है। सोलर पार्क में सड़क, पानी, विद्युत प्रसारणतंत्र इत्यादि आधारभूत संरचनाएं निर्मित की जाती है, जिससे लागत में कमीआती है। नोख फतेहगढ़, फलौदी-पोकरण सोलर पार्क परियोजनाएंनिर्माणाधीन है। वर्तमान में जोधपुर के भड़ला सोलर पार्क को विश्व का सबसेबड़ा सोलर पार्क होने का गौरव प्राप्त है।

अक्टूबर, 2023 OCTOBER

image editor output image 2062139017 16726476759658551669380315046850 | Shalasaral

राजस्थान में पवन एवं हाइब्रिड ऊर्जा

राज्य की विद्युत उत्पादन क्षमता में पवन चक्कियों का उल्लेखनीय योगदान है। सौर एवं पवन ऊर्जा संयंत्र को मिलाकर हाइब्रिड संयंत्र बनता है, जो दिन एवं रात ऊर्जा पैदा करता है। इस संयंत्र से परियोजना की लागत में कमी आती है। राज्य के बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, प्रतापगढ़, जालौर, चित्तौड़गढ़ इत्यादि हाइब्रिड परियोजनाओं के लिए उत्तम स्थान है। राज्य में 1500 मेगावाट क्षमता की हाइब्रिड परियोजनाएं जैसलमेर में स्थापित हुई है।

नवम्बर, 2023 NOVEMBER

image editor output image1822517320 16726477905441740899552731570038 | Shalasaral

कैलेंडर वर्ष 2023 में राज्य सरकार द्वारा घोषित सार्वजनिक व ऐच्छिक अवकाश

बायोमास ऊर्जा के प्रयोग से राज्य में ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा

बायोमास या जैविक अपशिष्ट से ऊर्जा का उत्पादन किया जा रहा है जिससे पर्यावरणप्रदूषण को नियंत्रित करने में मदद हो रही है। राजस्थान का पहला कृषि अवशेष आधारितबायोमास संयंत्र पदमपुर (श्रीगंगानगर) में स्थापित किया गया है। उनियारा (टोंक),लाडपुरा (कोटा), बारां व हनुमानगढ़ में सरसों की तूड़ी पर आधारित बायोमास संयंत्रस्थापित हैं तथा सिरोही में विलायती बबूल आधारित व श्रीगंगानगर में बनास आधारितबायोमास संयंत्र स्थापित हैं।

दिसम्बर 2023 DECEMBER

image editor output image 1487502475 1672647886314778573307636031798 | Shalasaral

ऊर्जा संरक्षण एवं ऊर्जा दक्षता

प्रतिवर्ष 14 दिसम्बर को “ऊर्जा संरक्षण दिवस’ मनाया जाता है एवं ऊर्जा संरक्षण क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं। वर्ष 2021 में राजस्थान को राष्ट्रीय ऊर्जा पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। अक्षय ऊर्जा असीम है, इसका कुशल वैज्ञानिक उपयोग पृथ्वी पर मौजूद सीमित संसाधनों के अंधाधुंध दोहन को रोकता है और प्रकृति एवं पर्यावरण को संतुलित रखता है।

Raj Govt Calendar की पीडीएफ हेतु लिंक

निम्नलिखित लिंक से पूरी जानकारी प्राप्त कीजिए।

कैलेंडर वर्ष 2023 में राज्य सरकार द्वारा घोषित सार्वजनिक व ऐच्छिक अवकाश

Related posts
Daily KnowledgeDaily MessageEmployment NewsPDF पीडीएफ कॉर्नरRPSC राजस्थान लोक सेवा आयोगरोजगारसमाचारों की दुनिया

युवा मंच पत्रिका | युवाओं हेतु अत्यंत महत्वपूर्ण सूचनाओं का नियमित संकलन फरवरी 2023

Daily MessageRaj StudentsRKSMBK

RKSMBK | दीक्षा पोर्टल पर विद्यार्थियों हेतु विषय सामग्री

Educational NewsRaj StudentsSocial Media

NCC | महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय, चैनपुरा, जोधपुर

Raj StudentsSchemesSocial Mediaसमाचारों की दुनिया

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना बनी वरदान खोरापाड़ा की भूरी के लिये