राजस्थान शिक्षा विभाग समाचार 2023

Daily Message

आज का पंचांग | 11 जनवरी 2023, बुधवार

20230111 052029 | Shalasaral

।। सुप्रभातम ।।
।।ॐ आज का पंचांग ॐ।।
तिथि — चतुर्थी
वार. ——– बुधवार
मास —— माघ
पक्ष ——– कृष्ण
सूर्योदय ——-०७-२५
सूर्यास्त —– १८-०८
चन्द्रोदय —– २१-५७
चन्द्रास्त —- १०-२३
सूर्य राशि —— धनु
चन्द्र राशि—– सिंह
अभिजीत मुहूर्त – कोई नहीं है।
राहुकाल १२-४६
से १४-०७ तक ।
कलियुगाब्द……५१२४
विक्रम संवत्…. २०७९
ऋतु….. शिशिर
नक्षत्र.. मघा
योग… आयुष्मान
करण… बालव
आंग्ल मतानुसार
११ जनवरी सन् २०२३
आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो।


।।ॐ।।सुभाषित।।ॐ।।


न संशयमनारुह्य नरो भद्राणि पश्यति।
संशयं पुनरारुह्य यदि जीवति पश्यति ॥

एक श्लोक


कठिन कार्य मे सबको प्रथम मरण तक आपत्ति का सन्देह हो जाता है, लेकिन उस सन्देह को दूर करके ‘इष्ट की सिद्धि हो, या तो मरण हो’, ऐसा निश्चय करके ही कार्य करना चाहिये, ऐसा करने से ही इष्ट की सिद्धि होती है ।

विश्वास स्वरूपम | विश्व की सबसे बड़ी शिव जी की प्रतिमा के दर्शन

राजस्थान के नाम आज एक अनोखा रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा. राजस्थान के राजसमंद जिले में आज दुनिया की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा का लोकार्पण होगा. राजस्थान के राजसमंद जिले नाथद्वारा में बनी इस शिव प्रतिमा की ऊंचाई 369 फीट है. विश्व की इस सबसे ऊंची शिव प्रतिमा का नाम ‘विश्वास स्वरूपम’ रखा गया है.।

विश्वास स्वरूपम

🕉️ ~ वैदिक पंचांग ~ 🕉️


🌤️ दिनांक – 10 जनवरी 2023
🌤️ दिन – मंगलवार
🌤️ विक्रम संवत – 2079
🌤️ शक संवत – 1944
🌤️ अयन – दक्षिणायन
🌤️ ऋतु – शिशिर ऋतु
🌤️ मास – माघ (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार पौष मास)
🌤️ पक्ष – कृष्ण
🌤️ तिथि – तृतीया दोपहर 12:09 तक तत्पश्चात चतुर्थी
🌤️ नक्षत्र – अश्लेशा सुबह 09:01 मघा तक
🌤️ योग – प्रीति सुबह 11:20 तक तत्पश्चात आयुष्मान
🌤️ राहुकाल – शाम 03:30 से शाम 04:52 तक
🌞 सूर्योदय- 07:19
🌦️ सूर्यास्त – 18:12
👉 दिशाशूल -उत्तर दिशा में
🚩 व्रत पर्व विवरण- संकष्टी चतुर्थी (चंद्रोदय :रात्रि 09:08), अंगारकी चतुर्थी, मंगलवारी चतुर्थी (दोपहर 12:09 से 11 जनवरी सूर्योदय तक)
🔥 विशेष – तृतीया को पर्वल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)


🕉️ ~ वैदिक पंचांग ~ 🕉️

🌷 विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए 🌷


👉 10 जनवरी 2023 मंगलवार को संकष्ट चतुर्थी (चन्द्रोदय रात्रि 09:08)
🙏🏻 शिव पुराण में आता हैं कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी ( पूनम के बाद की ) के दिन सुबह में गणपतिजी का पूजन करें और रात को चन्द्रमा में गणपतिजी की भावना करके अर्घ्य दें और ये मंत्र बोलें :
🌷 ॐ गं गणपते नमः ।
🌷 ॐ सोमाय नमः ।


🕉️ ~ वैदिक पंचांग ~ 🕉️

🌷 मंगलवार चतुर्थी 🌷
👉 भारतीय समय के अनुसार 10 जनवरी 2023 मंगलवार को दोपहर 12:09 से 11 अप्रैल सूर्योदय तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें, शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..


👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-
🌷 1) ॐ मंगलाय नमः
🌷 2) ॐ भूमि पुत्राय नमः
🌷 3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः
🌷 4) ॐ धन प्रदाय नमः
🌷 5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः
🌷 6) ॐ महा कायाय नमः
🌷 7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः
🌷 8) ॐ लोहिताय नमः
🌷 9) ॐ लोहिताक्षाय नमः
🌷 10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः
🌷 11) ॐ धरात्मजाय नमः
🌷 12) ॐ भुजाय नमः
🌷 13) ॐ भौमाय नमः
🌷 14) ॐ भुमिजाय नमः
🌷 15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः
🌷 16) ॐ अंगारकाय नमः
🌷 17) ॐ यमाय नमः
🌷 18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः
🌷 19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः
🌷 20) ॐ वृष्टि हराते नमः
🌷 21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः
🙏 ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें.. फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए.. अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-
🌷 भूमि पुत्रो महा तेजा
🌷 कुमारो रक्त वस्त्रका
🌷 ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम
🌷 ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे
🙏 हे भूमि पुत्र!.. महा क्यातेजस्वी, रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..

दिनाँक:-11/01/2023, बुधवार चतुर्थी, कृष्ण पक्ष,
मघा समाप्ति काल

तिथि———– चतुर्थी 14:30:52 तक
पक्ष————————- कृष्ण
नक्षत्र———— मघा 11:49:01
योग——— आयुष्मान 12:00:12
करण———– बालव 14:30:52
करण———– कौलव 27:36:18
वार———————— बुधवार
माह————————–माघ
चन्द्र राशि—————— सिंह
सूर्य राशि——————- धनु
रितु———————– शिशिर
आयन—————— उत्तरायण
संवत्सर——————- शुभकृत
संवत्सर (उत्तर)——————— नल
विक्रम संवत—————- 2079
गुजराती संवत————– 2079
शक संवत—————— 1944

वृन्दावन
सूर्योदय————— 07:12:31
सूर्यास्त—————- 17:41:40
दिन काल————- 10:29:09
रात्री काल————- 13:30:51
चंद्रास्त—————- 10:06:09
चंद्रोदय—————- 21:34:14

लग्न—- धनु 26°22′ , 266°22′

सूर्य नक्षत्र————— पूर्वाषाढा
चन्द्र नक्षत्र——————- मघा
नक्षत्र पाया——————- रजत

🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩

मे—- मघा 11:49:01

मो—- पूर्वा फाल्गुनी 18:29:18

टा—- पूर्वा फाल्गुनी 25:08:34

💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=धनु 26 : 29 उ oषाo , 1 भे
चन्द्र =सिंह 17°:23, अश्लेषा , 4 डो
बुध =धनु 19°: 34′ पू o फा o ‘ 2 टा
शुक्र=मकर 17°05, श्रवण ‘ 2 खू
मंगल=वृषभ 13°30 ‘ रोहिणी’ 2 वा
गुरु=मीन 08°30 ‘ उ o भा o, 2 थ
शनि=मकर 29°43 ‘ धनिष्ठा ‘ 2 गी
राहू=(व) मेष 15°30 भरणी , 1 ली
केतु=(व) तुला 15°30 स्वाति , 3 रो

🚩💮 शुभा$शुभ मुहूर्त 💮🚩

राहू काल 12:27 – 13:46 अशुभ
यम घंटा 08:31 – 09:50 अशुभ
गुली काल 11:08 – 12:27 अशुभ
अभिजित 12:06 – 12:48 अशुभ
दूर मुहूर्त 12:06 – 12:48 अशुभ
वर्ज्यम 20:43 – 22:29 अशुभ

🚩गंड मूल 07:13 – 11:49 अशुभ

💮चोघडिया, दिन
लाभ 07:13 – 08:31 शुभ
अमृत 08:31 – 09:50 शुभ
काल 09:50 – 11:08 अशुभ
शुभ 11:08 – 12:27 शुभ
रोग 12:27 – 13:46 अशुभ
उद्वेग 13:46 – 15:04 अशुभ
चर 15:04 – 16:23 शुभ
लाभ 16:23 – 17:42 शुभ

🚩चोघडिया, रात
उद्वेग 17:42 – 19:23 अशुभ
शुभ 19:23 – 21:04 शुभ
अमृत 21:04 – 22:46 शुभ
चर 22:46 – 24:27* शुभ
रोग 24:27* – 26:08* अशुभ
काल 26:08* – 27:50* अशुभ
लाभ 27:50* – 29:31* शुभ
उद्वेग 29:31* – 31:13* अशुभ

💮होरा, दिन
बुध 07:13 – 08:05
चन्द्र 08:05 – 08:57
शनि 08:57 – 09:50
बृहस्पति 09:50 – 10:42
मंगल 10:42 – 11:35
सूर्य 11:35 – 12:27
शुक्र 12:27 – 13:20
बुध 13:20 – 14:12
चन्द्र 14:12 – 15:04
शनि 15:04 – 15:57
बृहस्पति 15:57 – 16:49
मंगल 16:49 – 17:42

🚩होरा, रात
सूर्य 17:42 – 18:49
शुक्र 18:49 – 19:57
बुध 19:57 – 21:04
चन्द्र 21:04 – 22:12
शनि 22:12 – 23:20
बृहस्पति 23:20 – 24:27
मंगल 24:27* – 25:35
सूर्य 25:35* – 26:42
शुक्र 26:42* – 27:50
बुध 27:50* – 28:57
चन्द्र 28:57* – 30:05
शनि 30:05* – 31:13

🚩💮 उदयलग्न प्रवेशकाल 💮🚩

धनु > 04:22 से 06:32 तक
मकर > 06:32 से 08:12 तक
कुम्भ > 08:12 से 09:50 तक
मीन > 09: 50 से 11:10 तक
मेष > 11:10 से 12:54 तक
वृषभ > 12:54 से 17:12 तक
कर्क > 17:12 से 19:23 तक
सिंह > 19:23 से 21:38 तक
कन्या > 21:38 से 11:48 तक
तुला > 11:48 से 02:56 तक
वृश्चिक > 02:56 से 04:06 तक

🚩विभिन्न शहरों का रेखांतर (समय)संस्कार (लगभग-वास्तविक समय के समीप)

दिल्ली +10मिनट——— जोधपुर -6 मिनट
जयपुर +5 मिनट—— अहमदाबाद-8 मिनट
कोटा +5 मिनट———— मुंबई-7 मिनट
लखनऊ +25 मिनट——–बीकानेर-5 मिनट
कोलकाता +54—–जैसलमेर -15 मिनट

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

💮दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो पान अथवा पिस्ता खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🚩 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

15 + 4 + 4 + 1 = 24 ÷ 4 = 0 शेष
मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

🚩💮 ग्रह मुख आहुति ज्ञान 💮🚩

सूर्य नक्षत्र से अगले 3 नक्षत्र गणना के आधार पर क्रमानुसार सूर्य , बुध , शुक्र , शनि , चन्द्र , मंगल , गुरु , राहु केतु आहुति जानें । शुभ ग्रह की आहुति हवनादि कृत्य शुभपद होता है

मंगल सूर्य ग्रह मुखहुति

💮 शिव वास एवं फल -:

19 + 19 + 5 = 43 ÷ 7 = 1 शेष

कैलाश वास = शुभ कारक

🚩भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

शुभ विचार

अपुत्रस्य गृहं शून्यं दिशः शुन्यास्त्वबांधवाः ।
मूर्खस्य हृदयं शून्यं सर्वशून्या दरिद्रता ।।
।। चा o नी o।।

जिस व्यक्ति के पुत्र नहीं है उसका घर उजाड़ है. जिसे कोई सम्बन्धी नहीं है उसकी सभी दिशाए उजाड़ है. मुर्ख व्यक्ति का ह्रदय उजाड़ है. निर्धन व्यक्ति का सब कुछ उजाड़ है.

सुभाषितानि

गीता -: विभूति योग अo-10

वेदानां सामवेदोऽस्मि देवानामस्मि वासवः ।,
इंद्रियाणां मनश्चास्मि भूतानामस्मि चेतना ॥,

मैं वेदों में सामवेद हूँ, देवों में इंद्र हूँ, इंद्रियों में मन हूँ और भूत प्राणियों की चेतना अर्थात्‌ जीवन-शक्ति हूँ॥,22॥,

दैनिक राशिफल

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। पठन-पाठन व लेखन आदि में मन लगेगा। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त हो सकता है। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। मित्रों के साथ मजोरंजन का कार्यक्रम बन सकता है। निवेश में सोच-समझकर हाथ डालें। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। झंझटों से दूर बनाए रखें।

🐂वृष
सामाजिक कार्यों में रुचि रहेगी। मान-सम्मान मिलेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। निवेश लाभदायक रहेगा। बाहर जाने का मन बनेगा। परिवार के साथ जीवन सुखमय गुजरेगा। प्रसन्नता रहेगी। दूसरों से अपेक्षा न करें।

👫मिथुन
अपेक्षित कार्यों में बाधा होगी। तनाव रहेगा। किसी अपरिचित पर अतिविश्वास हानि का कारण बनेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। आय में निश्चितता रहेगी। शोक समाचार मिल सकता है। पुराना रोग परेशानी का कारण रहेगा। व्यय होगा। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें।

🦀कर्क
अपेक्षित कार्यों में विलंब होने से तनाव रहेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। कीमती वस्तुएं गुम हो सकती हैं। जल्दबाजी व लापरवाही न करें। लाभ में कमी रहेगी। फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कर्ज लेना पड़ सकता है। विवाद को बढ़ावा न दें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। स्वास्थ्य पर खर्च होगा।

🐅सिंह
रुका हुआ धन प्राप्त होने की संभावना है। यात्रा लाभदायक रहेगी। आय में वृद्धि होगी। भाइयों का सहयोग आत्मशांति देगा। शत्रु पस्त होंगे। नौकरी में अधिकारी आप पर ध्यान देंगे। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। व्यापार वृद्धि के लिए प्रयास हो सकते हैं। समय अनुकूल है। विवाद को बढ़ावा न दें।

🙍‍♀️कन्या
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। कानूनी अड़चन दूर होगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। वरिष्ठजनों का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। भाग्य अनुकूल है। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यस्तता रहेगी। थकान व कमजोरी महसूस हो सकती है। घर के वृ‍द्धजनों के स्वास्थ्य पर व्यय होगा। जल्दबाजी न करें। लाभ होगा।

⚖️तुला
चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। जल्दबाजी न करें। जीवनसाथी से तनाव रह सकता है। विवाद को बढ़ावा न दें। किसी अन्य व्यक्ति के उकसावे में न आएं। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। झंझटों से दूर रहें। निवेश करने का सही समय नहीं है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। आय में कमी तथा तनाव रहेगा।

🦂वृश्चिक
परिवार में कोई मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। प्रमाद न करें। तीर्थदर्शन सुलभ हो सकते हैं। राजकीय बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। नौकरी में तनाव रहेगा। कार्यभार बढ़ सकता है। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य खराब हो सकता है। शत्रु सक्रिय रहेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा।

🏹धनु
कार्यस्थल पर परिवर्तन संभव है। व्यापार वृद्धि के लिए योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। लाभ में वृद्धि होगी। मान-सम्मान मिलेगा। किसी जरूरतमंद व्यक्ति की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। पारिवारिक चिंता रहेगी। आशंका-कुशंका बने रहेंगे।

🐊मकर
भेंट व उपहार की प्राप्ति से मान बढ़ेगा। बेरोजगारी दूर होने के योग हैं। यात्रा लाभदायक रहेगी। शेयर मार्केट से लाभ होगा। जल्दबाजी न करें। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। समय की अनुकूलता का लाभ लें। बड़ा काम करने का मन बनेगा। भाग्य का साथ मिलता रहेगा।

🍯कुंभ
संपत्ति के कार्य लाभप्रद रहेंगे। कोई बड़ा कार्य हो सकता है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। भाइयों से सहयोग प्राप्त होगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में अनुकूलता रहेगी। लापरवाही से कोई भी कार्य न करें। चोट व दुर्घटना का भय है। आशंका-कुशंका रहेगी। विवाद से बचें।

🐟मीन
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। कार्यों में गति आएगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में वृद्धि होगी। निवेश शुभ रहेगा। परिवार के सदस्यों का सहयोग प्राप्त होगा। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। शत्रुओं से सावधान रहें।

Related posts
Daily MessageEmployment News

RPSC | पुनर्गणना (Re- Totalling) के संबंध में विज्ञप्ति जारी

Daily MessageSocial Mediaसमाचारों की दुनिया

04 फरवरी 2023 | श्रेष्ठ विचार, राशिफल व जीवन दर्शन

Daily KnowledgeDaily MessageEmployment NewsPDF पीडीएफ कॉर्नरRPSC राजस्थान लोक सेवा आयोगरोजगारसमाचारों की दुनिया

युवा मंच पत्रिका | युवाओं हेतु अत्यंत महत्वपूर्ण सूचनाओं का नियमित संकलन फरवरी 2023

Daily MessageRaj StudentsRKSMBK

RKSMBK | दीक्षा पोर्टल पर विद्यार्थियों हेतु विषय सामग्री