आज के प्रमुख शैक्षिक समाचार | 24 अगस्त 2022

आज दिनाँक 24 अगस्त 2022, बुधवार के प्रमुख शैक्षिक समाचार निम्नानुसार है-

Today’s Top Educational News

32 स्कूलों में कृषि संकाय के 3 ऐच्छिक विषय मंजूर

शिक्षा विभाग ने प्रदेश के 32 राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूलों में अतिरिक्त कृषि संकाय के तीन ऐच्छिक विषयों की मंजूरी दी है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। प्रदेश के 32 स्कूलों में पिछले महीने कृषि संकाय स्वीकृत किया गया था। जिसमें बीकानेर जिले के चार स्कूल शामिल हैं। इन स्कूलों में कृषि संकाय के तहत कृषि विज्ञान, कृषि रसायन विज्ञान, कृषि जीव विज्ञान विषय संचालित किए जाएंगे।

एकमात्र सरकारी शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय (फिजीकल कॉलेज) का संचालन अब खेल व युवा मामलात के अधीन

प्रदेशभर में शारीरिक शिक्षक देने वाला एकमात्र सरकारी शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय (फिजीकल कॉलेज) करीब 65 वर्षों के बाद शिक्षा विभाग के हाथों से निकल जाएगा। अब यह प्रदेश स्तरीय कॉलेज खेल व युवा मामलात के अधीन संचालित होगा। इससे करीब 120 करोड़ रुपए से अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेल सुविधाओं का विस्तार होगा। कॉलेज के ढांचे व संबंधित गतिविधियों का विस्तार होगा। करीब 65 बीघा जमीन पर बने इस महाविद्यालय का स्वामीत्व शिक्षा विभाग के पास था। इस महाविद्यालय की स्थापना वर्ष 1957 में हुई थी। अब तक हजारों की संख्या में शारीरिक शिक्षक प्रशिक्षण लेकर राजस्थान के विभिन्न विद्यालयों में सेवाएं दे रहे हैं।

प्रदेश के तीन विद्यालयों में कक्षा एक से 12 तक की लगाने की स्वीकृति

प्रदेश के तीन सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से 12 तक का संचालन करने की स्वीकृति जारी की गई है। इस संबंध में शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल ने सोमवार को आदेश जारी किए हैं। आदेश में बताया गया है कि राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय नाथद्वारा, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय माटूंदा बूंदी तथा राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय नमाना बूंदी में कक्षा एक से 12 तक का संचालन करने की स्वीकृति जारी की गई है। इन स्कूलों में पर्याप्त नामांकन होने पर न्यूनतम प्राथमिक कक्षा (एक से पांच) के लिए दो शिक्षक एल वन, एवं उच्च प्राथमिक कक्षा (एक से आठ) के लिए एल वन के दो शिक्षक एल टू के तीन शिक्षकों के पद प्रारंभिक शिक्षा विभाग में उपलब्ध आरक्षित पदों से आवंटित किए जाएंगे। इन विद्यालयों को सत्र 2022-23 से संचालित किया जाएगा।

उत्तर मैट्रिक छात्रवृति: आवेदन तिथि बढ़ाई

शैक्षणिक सत्र 2022-23 में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजना में आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवम्बर तक बढ़ा दी है। उन्होंने बताया कि इस बार उक्त योजना के तहत यह नवाचार किया है कि सत्र 2022-23 में सभी आवेदन जब एसएसओ आईडी से भर जाएगे, तो समस्त दस्तावेज यथा 10वीं का प्रमाण पत्र, जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्र, गत वर्ष की अंकतालिका, परिवार की वार्षिक आय का विवरण आदि का डाटा जनाधार, राज ई-वोल्ट, डीजी लॉकर से ऑनलाइन ही लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि छात्रों ध्यान देना है कि वे आवेदन भरते समय स्वयं का ही मोबाइल नम्बर एवं ई-मेल आईडी देंगे। इससे विभाग स्तर पर भेजे जाने वाले नोटिफिकेशन एसएमएस के माध्यम से प्राप्त हो सकें। साथ ही उन्होंने बताया कि अनिवार्य रूप से जनाधार आईडी एवं आधार नंबर के अभाव में विद्यार्थी की छात्रवृति स्वीकृत नहीं की जा सकेगी। उन्होंने बताया कि छात्रवृति आवेदन में विद्यार्थी स्वयं का ही खाता संख्या जनाधार के माध्यम से (केवाईसी पूर्ण) उपलब्ध करवाएंगे। तथा बैंक खाते में न्यूनतम राशि सरकारी बैंक में एक हजार एवं निजी बैंक में पांच हजार रुपए भुगतान के समय उपलब्ध होने जरूरी है।

बोर्ड परीक्षा के लिए 9 सितंबर 2022 तक ऑनलाइन फार्म भरने होंगे

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षा 2023 में शामिल होने के लिए नियमित व स्वयंपाठी विद्यार्थियां को 9 सितंबर तक ऑनलाइन परीक्षा फॉर्म भरने होंगे। बोर्ड परीक्षा में शामिल होने के लिए विद्यार्थी 9 सितंबर तक ऑनलाइन फॉर्म भरने व चालान मुद्रित कर सकते हैं। इसके बाद 14 सितंबर तक बैंक में शुल्क जमा करवा सकते हैं। जबकि आवेदन पत्र व चालान नोडल केंद्र पर 19 सितंबर तक जमा होंगे। इसके लिए नियमित विद्यार्थियों के लिए परीक्षा शुल्क 600 रुपए, स्वयंपाठी विद्यार्थी के लिए 650 तथा 100 प्रायोगिक शुल्क लगेगा।

716 महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूलों में इसी सत्र से बाल वाटिकाएं

राज्य के 716 महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूलों में इसी सत्र से प्री प्राइमरी कक्षाएं संचालित की जाएगी। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने राज्य सरकार की स्वीकृति के बाद प्री प्राइमरी बाल वाटिकाएं शुरू करने वाले इन स्कूलों की सूची जारी की है। अभी जिला मुख्यालयों पर स्थित महात्मा गांधी स्कूलों में पिछले सत्र से ही प्री प्राइमरी कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। प्री प्राइमरी कक्षाओं के तहत नर्सरी,एलकेजी और यूकेजी कक्षाओं का संचालन होगा। सरकार की मंशा बच्चों को शुरू से ही अंग्रेजी माध्यम का माहौल उपलब्ध कराना है। ताकि महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूलों में नर्सरी प्रवेश लेकर बच्चा 12वीं तक अंग्रेजी माध्यम से शिक्षण कर अपने कॅरियर को बना सकें।

रीट: आंसर-की पर आपत्ति 25 तक, प्रमाण साथ लगाना होगा

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) की ओर से आयोजित रीट परीक्षा की आंसर की जारी कर दी गई है। परीक्षा का आयोजन 23 व 24 जुलाई को किया गया था। छात्र प्रोविजनल आंसर की बोर्ड की वेबसाइट पर देख सकते हैं। वहीं बोर्ड ने यह स्पष्ट किया है कि आंसर की पर ऑब्जेक्शन प्रमाण के साथ ही किए जा सकते हैं। छात्रों को संबंधित उत्तर का जवाब पुस्तक में लिखे गए आंसर से ही देना होगा। आपत्ति 25 अगस्त रात 12 बजे तक की जा सकती है। प्रति सवाल उम्मीदवारों को 300 रुपए देने होंगे। बिना फीस के उनकी आपत्ति को रजिस्टर नहीं किया जाएगा। इसी प्रकार ऑफलाइन और बिना प्रमाण के लगाई गई आपत्तियों को स्वीकार नहीं किया जाएगा। अभ्यर्थी किसी एक सवाल पर एक बार ही आपत्ति कर सकता है।

झालावाड़ में 26 तक बंद रहेंगे स्कूल

बाढ़ के हालात को देखते हुए बढ़ाई छुटि्टयां, बच्चों के टेस्ट भी स्थगित

झालावाड़ जिले में बाढ़ के हालात को देखते हुए बच्चों की छुटि्टयां 3 दिन और बढ़ा दी गई हैं

अब जिले में सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में 26 तक छुटि्टयां रहेंगी। जिले में 8वीं से 11वीं तक की कक्षा के बच्चों के टेस्ट 22 अगस्त से ही शुरू हो गए थे, लेकिन बारिश के चलते इनको स्थगित करना पड़ा है।

जिला कलेक्टर डॉ. भारती दीक्षित ने एक आदेश जारी कर कहा कि जिले में भारी वर्षा को दृष्टिगत रखते हुए सभी सरकारी और निजी स्कूलों में स्टूडेंट के लिए अब 24 से 26 अगस्त तक अवकाश घोषित किया है। पूर्व में 22 अगस्त से 23 अगस्त तक अवकाश घोषित किया गया था, लेकिन जिले में फिर से बाढ़ के हालात पैदा होने पर जिला प्रशासन की ओर से छुटि्टयां बढ़ाई गई हैं। गौरतलब है कि जिला मुख्यालय सहित जिले भर में कई गांव में बाढ़ के हालात है। ऐसे में अधिकांश मार्ग बंद हैं। कई घरों में पानी भरा हुआ है। इसके चलते बच्चों के अवकाश घोषित किया। ऐसे में सबसे अधिक नुकसान तो 8वीं से 11वीं तक की कक्षा के बच्चों के टेस्ट भी 22 अगस्त से ही शुरू हो गए थे, लेकिन बारिश के चलते इनको स्थगित करना पड़ा।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Scroll to Top